शायरी

मुक्त रुला देने वाली शायरी
शब्द देख सब भुला देने वाली या तो
हंसा देने वाली शायरी
रास्ता भटकाने वाली या तो
भटके को रास्ते पर लाने वाली शायरी
और तो और फीकी जिंदगी में उत्साह भर जाने वाली शायरी
बताना लिखता हूँँ मैं इस कलम से डायरी भर जाने वाली
या तो दिल को छू जाने वाली शायरी

Related Articles

Likhta hoon

जो दिल में उतर जाए ऐसे जज़्बात लिखता हूँ, रातों की नींदें चुरा ले ऐसे ख्वाब लिखता हूँ। हकीम नहीं हूँ मैं कोई साहब, पर…

“मैं स्त्री हूं”

सृष्टि कल्याण को कालकूट पिया था शिव ने, मैं भी जन्म से मृत्यु तक कालकूट ही पीती हूं।                                                    मैं स्त्री हूं।                                              (कालकूट –…

Responses

New Report

Close