Happy International Women’s Day

Happy International Women’s Day नारी हर घर की शान होती हैं, आज के युग में तो नारी घर के साथ साथ सभी क्षेत्रों में अपना स्थान बना चुकी हैं। महिला समाज एवं परिवार का मुख्य आधार होती हैं। महिलाएं समाज को सभ्य बनाने से लेकर देश के विकास में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। आज महिलाओं ने खुद को हर क्षेत्र में साबित किया है।
इंसान के वजूद के लिए आसमान का होना बेहद ज़रूरी है, इसी से हमें बारिश मिलती है और इसी से हमें धूप भी मिलती है। किसी ने आसमान की ऊंचाई से अपने ज़ज़्बे को मापा है तो किसी ने आसमान में ख़ुदा को ढ़ूंढ़ने की कोशिश की है लेकिन यह हमेशा ही मानवीय-जिज्ञासा का विषय रहा है।
हैलो, (Heloo /Hi ) मैं हूँ अनु मेहता। मैं आज आपके सामने एक बहुत मेहनती और बहादुर और हिम्मती लड़की के बारे में बताना चाहती हूँ “छू ले आसमान” कविता को पूरा पढ़े….
आईये पढ़ते है. कुछ ऐसे ही मेहनती और निडर शेरो के बारे में परिचय करवाती हूँ.. जिन्होंने ये साबित कर दिया है लड़किया लड़को से 100 क्या 1000 कदम आगे है जो आसमां की इन्हीं खूबियों को अपने में समेटे हुए हैं……. एक ऐसी लड़की जिसने कम उम्र में इतनी सारी मेहनत कर के अपने माता – पिता (मम्मी डैडी) का नाम रोशन किया है और आने बाली युवा- बर्ग को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया है……. और उन्होंने खुद को हर क्षेत्र में साबित किया है। एक अच्छी बेटी, एक अच्छी बहन, एक अच्छा इंसान, एक अच्छी मालिक(A good daughter, a good sister, a good person, a good boss, a good author) उसका नाम ऐश्वर्या नीर (Aishwarya Nir) है, Nir Mam Director At Aishwarya Group And founder of Global Beauty Secrets…
Nir Mam के बारे में अधिक जानकारी चाहिए तो https://discovergbs.com
https://discovergbs.com इस लिंक पे क्लिक करे………

“छू ले आसमान” को पीछे मुड़कर ना देख,
ये दुनिया आप से जलती है और जलती रहेगी….
आप से बढ़कर इस दुनिया में ना कोई है, ना कोई देखा और कोई ना ही होगा,
आज दिल की बात मेरी जुबाँ पर आ गई,
क्या खूब हैं आपकी आँखे, इन आँखे में जिंदगानी है हमारी,
आप सुंदरता की मूरत हो,
अपने मम्मी पापा की आंखों का नूर हो,
अपने भाई की जान- जहांन हो,
आप मृगनयनी हो, चंचल चितवन, चितचोर हो,
काले बादलों जैसा लंबे घने जो बाल आपके, कपोलों पर पड़ती एक लट, अद्भुत लगती है।
दामिनी जैसी आग है आप में,
क्रोध कभी देखा नहीं,
मैं ज्यादा जानती नहीं आपको,
दया की मूर्ति, करूणा की सागर हो,
कल -कल करती नदी के जेसी, बाधाओं को पार करती हो,
विशाल सागर जेसा दिल, जिसमें दुखियों के
दुख समेटने की ताकत है रखती हो आप
इतना ही जानती हूँ आपको, हमारी कंपनी का मान-समान हो आप, अपनी मेहनती और निडरता से चार चांद लगती हो आप….
Happy Woman Day Mam
अगर आपको “छू ले आसमान” कविता पसंद आये तो Plz , Like, Share, Comment करना ना भूले……. Thank You

Related Articles

प्यार अंधा होता है (Love Is Blind) सत्य पर आधारित Full Story

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ Anu Mehta’s Dairy About me परिचय (Introduction) नमस्‍कार दोस्‍तो, मेरा नाम अनु मेहता है। मैं…

Happy Birthday to You Mam

सब की ज़िन्दगी मे कोई ना कोई इंसान ऐसा होता है जो सब से खास, सब से प्यारा होता है। चाहे वो मम्मी या पापा,…

Responses

New Report

Close