Teri bewafai

न रात को नींद न दिन को चैन है,
तेरी वेरूखी से दिल बडा बेचैन है,
जब तक चाहा दिल से खेला तुमने,
भर गया जी तो पलटकर देखा भी नहीं तुमने,
तेरी बेवफाई बहुत ही तड़पा गई मुझे,
औरो ने तोरा दिल तेरा तो
मेरी वफा तुझे याद आई,
कैसी ये प्रीत निभाई तुमने,
कैसी ये रीत निभाई तूमने,
टूटे हुए दिल को जोड़ने में लगी हूं मैं,
तेरी याद को मिटाने में लगी हूं मैं,
रास्ते से गुजरो कभी तो देखूंगी भी नहीं तेरी तरफ मैं,
सोचूंगी कभी मिली थी ही नहीं तुझसे |


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

14 Comments

  1. Shyam Kunvar Bharti - October 22, 2019, 4:17 pm

    waah waah bahut khub

  2. Shyam Kunvar Bharti - October 22, 2019, 4:18 pm

    bahut khub

  3. देवेश साखरे 'देव' - October 22, 2019, 6:40 pm

    बहुत सुन्दर

  4. Kumari Raushani - October 22, 2019, 8:51 pm

    उत्तम

  5. NIMISHA SINGHAL - October 22, 2019, 9:13 pm

    Shaandaar

  6. nitu kandera - October 24, 2019, 8:17 am

    Good

  7. महेश गुप्ता जौनपुरी - October 25, 2019, 5:15 pm

    वाह जी वाह

  8. Abhishek kumar - November 25, 2019, 12:11 am

    क्यूँ

Leave a Reply