आज कुछ लिखने को जी करता है

आज कुछ लिखने को जी करता है
आज फिर से जीने को जी करता है
दबे है जो अहसास ज़हन में जमाने से
उनसे कुछ अल्फ़ाज उखेरने को जी करता है


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Panna.....Ek Khayal...Pathraya Sa!

Related Posts

Talking to a friend

From Death 2 Life

From Death 2 Life

From Death 2 Life

अपने ही सूरज की रोशनी में

4 Comments

  1. anupriya sharma - November 26, 2016, 3:46 pm

    Nice

  2. Ria - November 30, 2016, 9:29 pm

    बहुत खूब

Leave a Reply