झूठी है औरत

हां, झूठी है औरत,
अपनी ख्वाहिश तक ही नहीं सीमित,
औरों के लिए जगे रात तक
हां, झूठी है औरत।
मायके की तारीफ़ करे ससुराल में,
ससुराल की कमी ,ना बताए किसी हाल में।
कोशिश करती है , छिपा सकती है जब तक
हां …. बहुत झूठी है औरत ।
पति से कहे मेरा भाई दमदार है,
भाई से कहती पति शानदार है ।
यही तो करती आई है अब तक,
हां जी, … बहुत झूठी है औरत ।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

भोजपुरी चइता गीत- हरी हरी बलिया

तभी सार्थक है लिखना

घिस-घिस रेत बनते हो

अनुभव सिखायेगा

29 Comments

  1. Suman Kumari - September 6, 2020, 3:53 pm

    सुन्दर अभिव्यक्ति

  2. Satish Pandey - September 6, 2020, 4:02 pm

    आप बहुत ही बढ़िया लिखती हैं गीता जी, आपकी लेखनी को सैल्यूट।

    • Geeta kumari - September 6, 2020, 4:19 pm

      अरे सर 🙂….आपसे बढ़िया कहां जी।
      समीक्षा के लिए बहुत बहुत धन्यवाद जी 🙏।
      उत्साह वर्धन के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद ।

  3. Chandra Pandey - September 6, 2020, 4:04 pm

    Very nice

  4. MS Lohaghat - September 6, 2020, 4:33 pm

    बहुत बढ़िया

  5. Devi Kamla - September 6, 2020, 4:37 pm

    Very nice

  6. Indu Pandey - September 6, 2020, 4:57 pm

    Very Nice

  7. प्रतिमा चौधरी - September 6, 2020, 5:10 pm

    सुन्दर अभिव्यक्ति

    • Geeta kumari - September 6, 2020, 5:33 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका प्रतिमा जी🙏

  8. Rishi Kumar - September 6, 2020, 5:22 pm

    बहुत अच्छा है😃

  9. Anu Singla - September 6, 2020, 5:33 pm

    Very true

  10. Piyush Joshi - September 6, 2020, 7:36 pm

    लाजबाब

  11. Isha Pandey - September 6, 2020, 8:34 pm

    बहुत खूब

  12. मोहन सिंह मानुष - September 6, 2020, 10:41 pm

    बहुत सुंदर पंक्तियां
    वाकई में औरतों में झूठ बोलने की कला शानदार होती है।

    • Geeta kumari - September 6, 2020, 10:52 pm

      ये समाज पर एक तंज है। औरत मायके की इज्जत, ससुराल में और ससुराल की इज्जत मायके में रखती है।इस प्रकार दोनों परिवारों में सामंजस्य स्थापित करती है। घर में कोई अतिथि गैर तिमेभी सा जाए तो परिवार की इज्जत के लिए झूठ बोलती है कि में थकी हुई नहीं हूं, अभी फटाफट खाना तैयार हो जाता है….. आदि,आदि अनेकों उदाहरण मिल जाएंगे आपको।

  13. Geeta kumari - September 6, 2020, 10:53 pm

    गैर टाइम*…. Typing mistake

  14. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - September 7, 2020, 11:25 am

    अतिसुंदर भाव

  15. Indu Pandey - September 23, 2020, 6:46 pm

    waah waah

Leave a Reply