शान

शान से जीना शान से मरना
मजदूर की यही निशानी है।
एक एक कतरे का हिसाब दे
मौज में रहना ईमानदारी है।।

✍महेश गुप्ता जौनपुरी

Related Articles

Responses

New Report

Close